Coronavirus Disease | Coronavirus Disease in India

Join Our Telegram Channel
Join MPHW/FHW Telegram Channel
Join Our Whatspp Group
Get Free Books

Daily અપડેટ્સ પ્રાપ્ત કરવા માટે, તમારું નામ અને મેઇલ લખો અને સબ્સ્ક્રાઇબ કરો

* indicates required

coronavirus disease | coronavirus disease in india
कोरोनो वाइरस आज कल भारत मे चर्चा का विषय बना हुआ है।कोरोना वाइरस चीन में से निकल कर एशियाई देशों में भी पाव फसाना सुरु कर चुका है। जापान,थायलैंड और दक्षिण कोरिया में भी कोरोना वायरस का कहेर मैचा हुआ है। वही साउदी अरब में एक भारतीय नर्स इससे पीड़ित पाई गई। World health organization के कहने पर भारतीय केंद्रीय एवम स्वाथ्य कल्याण मंत्रालय ने भारत के सभी राज्यो को सतर्क रहने के लिए कहा है। साथ ही उत्तराखण्ड राज्य में कोरोना वाइरस से एलर्ट भी जारी किया गया है ।

How the corona virus spreads
कोरोना वाइरस का उदभव स्थान चीन है। ये वाइरस जनवरो से इंसानो में फैलता है। world health organization के अनुसार ये वाइरस सी फूड से जुड़ा है। और इसकी शुरुआत चाइना के हुवई प्रान्त के वुहान शहर से एक सी-फूड दुकान से सुरु हुई मानी जा रही है। कहा जा रहा है के साँपो और चमगादड़ो से इंसानो में फेल रहा है। चीन में साँपो और चमगादड़ो को चिकन बनाके खाया जाता है। जिससे ये वाइरस फैलाने लगा। देश भर में 630 से ज्यादा लोग संक्रमित हुए है। और 17 लोगो की मौत हो चुकी है।

What is tha symptoms of corona virus
कोरोना वाइरस के मरीजों में आम तौर पर ज़ुखाम,खासी, गलेमें दर्द और बुखार जैसे लक्षण पाए जाते है इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते है और किडनी को नुकसान पहुचाते है। इससे फेफड़ो में गंभीर किस्म का संक्रमण होता है।और मरीज को वेंटिलेटर पर रखना पड़ता है। कोरोना वाइरस की आब तक नही बनी है वेक्सी ।पर इसके लक्षणों के अनुसार डॉक्टर दूसरी दवाइयों का इस्तेमाल कर रहे है।

How to protect against corona virus
संयुक्त राष्ट्र ने भी ट्वीट किया है और इसमें ये बताया गया है कि कोरोना वाइरस के संक्रमण से कैसे बचें। कहा गया है कि अपने आप की अच्छे से देखभाल करे और छोटे छोटे लक्षणो को भी नजर अंदाज बिल्कुल ना करे और ऐसे लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाए। World health organization  के अनुसार अभी कोरोना वाइरस से ज्यादा डरने की जरूरत नही है। क्योंकि अभी इस वाइरस को एपिटेमिक बल्कि महामारी के रूप में घोसित नही किया गया है।